आतंकी समझकर अमेरिका ने गिरफ्तार कर लिया तो स्वयं को ‘हिन्दू’ घोषित कर ही बच निकले थे कमल हासन!!

202

वामपंथी मोर्चे के नेता के तौर पर नई पारी शुरू करने की अटकलों के बीच कमल हासन ने ‘हिंदू आतंकवाद’ पर नई बहस छेड़ दी है।तमिल साप्ताहिक पत्रिका ‘आनंदा विकटन’ में लिखे अपने लेख में हासन ने हिन्दुओं का आतंकवाद से आपत्तिजनक सबंध निकाल दिया है।उन्होंने लिखा है कि राइट विंग ने अब बाहुबल  का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया है।उन्होंने आरोप लगाया कि राइट विंग हिंसा में शामिल है और हिंदू कैंपों में आतंकवाद घुस चुका है।

कमल हासन ने लेख में आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल करते हुए लिखा है कि कोई नहीं कह सकता की हिंदू आतंकवाद का वजूद नहीं है। उन्होंने लिखा कि हिंदू कट्टरपंथी पहले बातचीत में यकीन रखते थे लेकिन अब हिंसा में शामिल हैं।उन्होंने यह भी लिखा है कि लोगों की ‘सत्यमेव जयते’ में आस्था खत्म हो चुकी है।उन्होंने सीधा आरोप लगाया कि राइट विंग हिंसा में शामिल है और हिंदू कैंपों में आतंकवाद घर क़र चूका है।उन्होंने कहा कि पहले हिंदू दक्षिणपंथी संगठन हिंसा में शामिल नहीं होते थे,वे लोग विरोधी पार्टियों से बातचीत से रास्ता निकाला करते थे लेकिन अब सब बदल गया है और बल का प्रयोग किया जा रहा है।

 कमल हासन पैदा तो हिन्दू परिवार में ही हुए थे पर वामपंथियों के साथ बड़े होते होते उनकी सोच वामपंथी विचारधारा की ही हो गयी। और इसी वजह से वह अपने जीवन की एक महत्वपूर्ण घटना भूल गए जब वो एक समस्या में फंस गए थे और उनके मात्र धर्म ने ही उन्हे बचाया था. कमल हासन के नाम में हासन है, वो किसी काम से अमरीका गए थे और अमरीका में उस समय बराक ओबामा की सरकार थी, और अमेरीकी एयरपोर्ट पे कमल हासन को उनके नाम के कारण इस्लामिक आतंकी समझ लिया गया था और एयरपोर्ट पर हिरासत में ले लिया गया था।

और यह बात कोई फर्जी खबर या दक्षिणपंथी मीडिया की नहीं है, इस बात का खुलासा स्वयं कमल हासन ने ही किया था. गौरतलब है जब अमरीका में शाहरुख़ खान को आतंकी समझकर एयरपोर्ट पर पकड़ लिया गया था, उसी बात पर चर्चा करते हुए कमल हासन ने बताया था की उन्हें एक बार अमरीका और एक बार कनाडा के टोरंटो एयरपोर्ट पर मुसलमान और आतंकवादी समझकर पकड़ लिया गया था।

कमल हासन ने बताया था की, उनका नाम कमल हासन है,अमरीकावालों ने इसे “QAMAL HAASAAN” समझ लिया, अमरीका वालो को लगा की मैं मुस्लिम हूँ और आतंकी हूँ और इसी शक में उन्होंने मुझे गिरफ्तार कर लिया और पूछताछ करने लगे,फिर मैंने उन्हें बताया की मेरा नाम “KAMAL HASAN” है,और मैं मुस्लिम नहीं हिन्दू  हूँ और इसी के बाद मुझे छोड़ दिया गया। वाह रे कमल जब बात जान पे बन आयी तब हिन्दुत्व ही याद आई।

जिस कमल हासन ने हिन्दुओ को आज आतंकवादी बताया, वो खुद को अमरीका में हिन्दू बताकर बचे थे, अन्यथा अमरीका के अधिकारियों ने उन्हें मुस्लिम और आतंकी समझकर पकड़ ही लिया था। आज वही कमल हासन हिन्दुओ को आतंकवादी बता कर अपनी राजनीती चमकाना चाहते हैं, यह बड़ी ही शर्म की बात है।

Leave a Reply