इन कारणों से महिलाएं भरती है मांग में सिंदूर…

628
why married women wear sindoor revealed

आपने सुहागिन महिलाओं को मांग में सिंदूर भरते जरूर देखा होगा। वैसे तो महिलाएं सोलह श्रंगार करती है पर सिंदूर का एक अलग ही महत्व होता है। भारतीय समाज में सिंदूर का बहुत खास महत्व है। यह एक महिला के लिए उसके सुहाग की निशानी होती है। हम जब भी कभी किसी शादीशुदा औरत को देखते हैं तो उसके माथे पर सिंदूर जरूर लगा दिखता है। एक शादीशुदा औरत को सिंदूर के बिना अधूरा माना जाता है।

हिंदू पौराणिक कथाओं में सिंदूर का आध्यात्मिक महत्व माना जाता है, लेकिन क्या आपने कभी सिंदूर लगाने के पीछे के कारणों को जानने का प्रयास किया है। इस सिंदूर को ना केवल शादी के प्रतीक के रूप में लगाया जाता है बल्कि इसे लगाने के पीछे और भी कई कारण हैं।

परंपरागत रूप से यह पति की लंबी उम्र सुनिश्चित करने के लिए लगाया जाता है

why married women wear sindoor revealed

हिंदू समाज में जब भी किसी लड़की की शादी होती हैं तो उसके लिए सिंदूर लगाना बहुत जरूरी होता है। माना जाता है कि शादीशुदा महिला का सिंदूर लगाना उसके पति की लंबी उम्र की कामना का प्रतीक होता है। यही वजह है कि विधवा औरतें अपनी मांग में सिंदूर नहीं लगती हैं।

लाल रंग शक्ति का प्रतीक माना जाता है

why married women wear sindoor revealed

भारतीय पौराणिक कथाओं में लाल रंग के माध्यम से सती और पार्वती की ऊर्जा को व्यक्त किया गया है। सती को हिन्दू समाज में एक आदर्श पत्नी के रूप में माना जाता है। जो अपने पति के खातिर अपने जीवन का त्याग सकती है। हिंदुओं का मानना है कि सिंदूर लगाने से देवी पार्वती ‘अखंड सौभागयवती’ होने का आशीर्वाद देती हैं।

सिंदूर रक्तचाप को नियंत्रित करता है और सेक्स की इच्छा को भी बढ़ाता है

why married women wear sindoor revealed

सिंदूर के माध्यम से रक्तचाप भी नियंत्रित रहता है। इसके साथ ही यह महिलाओं में सेक्स की इच्छा को बढ़ाने में भी मदद करता है। सिंदूर के माध्यम से महिलाओं की पिट्यूटरी ग्रंथियां स्थिर रहती हैं।

सिंदूर औरत को शांत और स्वस्थ रखने में मदद करता है

why married women wear sindoor revealed

वैज्ञानिक दृष्टि से अगर देखें तो एक औरत जब सिंदूर लगाती है तो वह सिंदूर उसके मन को शांत रखने में मदद करता है। इतना ही नहीं सिंदूर से उसका स्वास्थ भी अच्छा बना रहता है।

सिंदूर देवी लक्ष्मी के लिए सम्मान का प्रतीक माना जाता है

यह कहा जाता है कि देवी लक्ष्मी पृथ्वी पर पांच स्थानों पर रहती हैं और उन्हें हिन्दू समाज में सिर पर स्थान दिया गया है। जिसके कराण हम माथे पर कुमकुम लगा कर उन्हें समान देते हैं। देवी लक्ष्मी हमारे परिवार के लिए अच्छा भाग्य और धन लाने में मदद करती हैं।

यह उत्तरी भारत में एक सांस्कृतिक प्रथा है

आप इस बात को तो जानते ही होंगे की सिन्दूर केवल उत्तरी भारत में ही लगाया जाता है। उत्तर भारत में हिन्दू धर्म को मानने वाली हर महिला शादी के बाद सिंदूर जरूर लगाती है। जबकि दक्षिण भारत में सिंदूर लगाने की प्रथा नही है।

यह महत्वपूर्ण होता है कि पति अपनी पत्नी की मांग में सिंदूर लगाए

why married women wear sindoor revealed

हिन्दू धर्म में नवरात्र और दीवाली जैसे महत्वपूर्ण त्योहारों के दौरान पति के द्वारा अपनी पत्नी की मांग में सिंदूर लगाना शुभ माना जाता है। ऐसा माना जाता है कि यह उनके एक साथ रहने का प्रतीक होता है और इससे वो काफी लंबे समय तक एक साथ रहते हैं।

इस प्रकार एक अन्य तथ्यों को पड़ने के लिए हमारे फेसबुक पेज को जरूर लाइक करें

Leave a Reply