100 साल का एक रूपया जानें, 1 रुपए का रोचक सफर…

254
history of one rs note

अगर कीमत की बात की जाये तो एक रुपए का नोट कोई खास नहीं है, लेकिन इसके बिना बड़े-बड़े शुभ कामों को रोक दिया जाता है। 30 नवंबर 2017 दिन यह एक रुपए के लिए बहुत महत्वपूर्ण है, क्योंकि ठीक है सौ साल पहले पहले एक रुपये का नोट जारी किया गया था।

आइये बताते है एक रूपये का दिलचस्प सफर –

रिजर्व बैंक की वेबसाइट के अनुसार, पहले विश्व युद्ध के दौरान जब चांदी के सिक्कों की कमी हुई, तो ब्रिटिश सरकार ने मज़बूरी में एक नोट का मुद्रण शुरू किया था। तब इस पर किंग जॉर्ज पांचवें की तस्वीर थी हालांकि इसे 1 926 में बंद किया गया था।

दूसरा विश्व युद्ध के दौरान 1 940 में फिर से शुरू किया गया था। इसके बाद देश आजाद हुआ, तो सरकार ने अपने नोट छापे कुल मिलाकर इस दौरान 15 बाद में बदला गया है यह नोट।

1994 में इसकी छपाई बंद करने का फैसला हुआ, क्योंकि प्रिंटिंग की कीमतें बढ़ गईं। फिर सिक्कों जारी होने लगे। 2015 में फिर से शुरू किया गया था

आज लेन देन में इसकी संख्या बहुत कम है और इसी कारण संग्रह करने वालों को इसकी तलाश में रहना है। यहां तक कि मनमोहन सिंह की साइन वाला एक रुपए का नोट भी मिलना मुश्किल है, जब वह वित्त मंत्री हुआ करते थे।

एक रूपये का दिलचस्प सफर:

30 नवंबर, 1917:  एक रुपया का पहला नोट छपा, किंग जॉर्ज पांचवें की तस्वीर वाला यह नोट 1 926 में बंद किया गया था

history of one rs note

इस नोट पर तीन ब्रिटिश वित्त सचिवों के हस्ताक्षर थे ये हैं – एमएमएस गब्बी, एसी मैक्वाटर और एच डेनिंग

अगस्त 01, 1940: इस बार किंग जर्चे छठी की तस्वीर

history of one rs note

एक रुपए के नोट में यह बदलाव दूसरे विश्व युद्ध के दौरान किया गया।

जनवरी 01, 1949: किंग जॉर्ज की जगह आया अशोक स्तंभ

history of one rs note

आजादी के बाद पहली बार भारत सरकार ने एक रुपए का नया नोट छापा।

अक्टूबर 02, 1969: पहली बार 1 रुपए के नोट पर आए गांधीजी

history of one rs note

महात्मा गांधी की जन्मशती पर यह नोट जारी हुआ था।

मार्च 01, 1981: सागर सम्राट वाला नोट

history of one rs note

इस नोट पर सागर सम्राट योजना की फोटो लगी है।

मार्च 01, 1994: एक रुपए के नोट की छपाई बंद:

history of one rs note

एक रुपए का नोट भारत सरकार सीधे जारी करती है जबकि अन्य नोट रिजर्व बैंक जारी करता है। बताया गया कि यह एक रुपए छापने में करीब सवा रुपया खर्च हो रहा था इसलिए सर्कार ने इसकी छपाई रोक दी ।

मई 2017: में सरकार ने एक रुपए का नया नोट लाने की घोषणा की है, जिस पर सागर सम्राट योजना की फोटो बनी रहेगी।

history of one rs note

हमसे जुड़ने एवं ऐसे ही खबर पढ़ते रहने के लिए हमारे फेसबुक पेज को जरूर लाइक करें

Leave a Reply