क्या आप जानते है कि भारत मे पहला क्षेत्रिय दल कैसे बना?

229

7 फरवरी 2018 को मोदी जी ने लोकसभा में राजीव गांधी द्वारा आंध्र प्रदेश के दलित मुख्यमंत्री तन्तुगुरी अनज्याह को सरेआम अपमानित करने और पहले क्षेत्रिय दल बनने की बात सुनाई

दरअसल प्रधान मंत्री मोदी 1982 की घटना की बात कर रहे थे, जब तत्कालीन कांग्रेस महासचिव राजीव गांधी ने आंध्र प्रदेश के तत्कालीन मुख्यमंत्री तन्तुगुरी अनज्याह को सार्वजनिक रूप से अपमानित किया था, हुआ ऐसा की राजीव अपनी निजी यात्रा पर हैदराबाद गए थे इस खबर को सुन कर आंध्रा प्रदेश के तत्कालीन मुख्यमंत्री तन्तुगुरी अनज्याह स्वयं उनके स्वागत के लिए बेगमपेट एयरपोर्ट बैंड-बाजे समेत पहोचे राजीव इस बात से बहोत नाराज हुए और उन्हें सरेआम डाटने लगे.

राजीव गांधी को किसी वजह से अपना सैंडल उतारना था तो उन्होंने सैंडल उतार कर को मुख्यमंत्री को दे दिया उसी समय एक अखबार का फोटोग्राफर ने राजीव गांधी की सैंडल उठाए मुख्यमंत्री की फोटो खींच ली…

इस बात पे बहोत विवाद हुआ राजीव गांधी दिल्ली जाकर अपनी माता इंदिरा गांधी से आंध्र प्रदेश के दलित मुख्यमंत्री की शिकायत की और उसी समय उन्हें इंदिरा गांधी ने फोन करके कहा कि आप गद्दी छोड़ दीजिए

Indira and Rajeev Gandhi

तेलुगु मीडिया ने इसे पूरे तेलुगु समुदाय का अपमान बताया हालांकि अब यह मुद्दा दलित का नहीं रह गया था अब यह मुद्दा पूरे तेलुगु समाज का रह गया था.. इस घटना से फिल्म कलाकर एंटी रामाराव बहुत आहत हुए

फिल्मी हस्ती एनटी रामाराव को तेलुगु गर्व को हासिल करने के लिए एक आंदोलन और एक पार्टी शुरू करने का फैसला किया. उन्होंने ने इस घटना को तेलगु स्वाभिमान से जोड़ दिया और पूरे आंध्रप्रदेश मे घूम घूम कर लोगो के स्वाभिमान को ललकारा . एनटी रामा राव टी अंजाइया की वह फोटो लोगों को दिखाते थे जिसमें उन्हें राजीव गांधी उन्हें डांट रहे हैं और उनके हाथों में राजीव गांधी का सैंडल है.

Telgu Desham Party- NTR

एन टी रामाराव खुद तेलगु फिल्मो के सबसे बड़े स्टार थे और उन्होंने धार्मिक फिल्मो मे राम, विष्णु, कार्तिकेय आदि रोल बहुत किये थे ..इसलिए तेलगु लोग उन्हें भगवान सामान समझते थे |

पूरे दुनिया के इतिहास की ये पहली और अब तक की अंतिम घटना थी जब कोई पार्टी अपने गठन के सिर्फ १० महीने के भीतर ही किसी राज्य मे पूर्ण बहुमत हासिल करके सरकार बना ले…राव और उनकी तेलुगु देशम पार्टी ने 1983 के विधानसभा चुनाव में पूर्ण बहुमत भी हासिल कर लिया और आंध्रा में सत्ता स्थापित किया

Leave a Reply