Desh Bhakti Shayari in Hindi | देश-भक्ति शायरी हिंदी में

2002
Desh Bhakti Shayari Hindi

Desh Bhakti Shayari in Hindi | देश-भक्ति शायरी हिंदी में

Desh Bhakti Shayari in Hindi: इस पोस्ट में आपको देशभक्ति शायरी, एवं देश के सैनिकों पर शायरी तथा सन्देश दिये गये हैं जो आपको हृदय में देशभक्ति और उत्साह की लहर भर देगा. नीचे दिए गये शायरी एवं संदेशों को जरूर पढ़ें एवं अपने मित्रों तथा परिवारजनों के साथ अधिक से अधिक शेयर करें

एक सैनिक ने क्या खूब कहा है. किसी गजरे की खुशबु को महकता छोड़ आया हूँ, मेरी नन्ही सी चिड़िया को चहकता छोड़ आया हूँ, मुझे छाती से अपनी तू लगा लेना ऐ भारत माँ, मैं अपनी माँ की बाहों को तरसता छोड़ आया हूँ।

जय हिन्द 

Bharat Bhakti Shayari in Hindi #1

Desh Bhakti Shayari in Hindi #2

Bharat Bhakti Shayari in Hindi #3

Desh Bhakti Shayari in Hindi #4

Bharat Bhakti Shayari in Hindi #5

Desh Bhakti Shayari in Hindi #6

Desh Bhakti Shayari in Hindi #7

Bharat Bhakti Shayari in Hindi #8

Desh Bhakti Shayari in Hindi #9

Bharat Bhakti Shayari in Hindi #10

Desh Bhakti Shayari in Hindi


मिट्टी की है जो खुशबू , तू कैसे भुलायेगा तू चाहे कही जाए, तू लौट के आएगा नई-नई राहों में, दबी-दबी आहों में खोए-खोए दिल से तेरे, कोई ये कहेगा ये जो देस है तेरा, स्वदेस है तेरा


कंधों से मिलते हैं कंधे, क़दमों से कदम मिलते हैं हम चलते हैं जब ऐसे तो दिल दुश्मन के हिलते हैं


जीत की जो तस्वीर बनाने हम निकले हैं अपने लहू से हमे को उसमे रंग भरना है साथी मैंने अपने दिल में अब ये ठान लिया है या तो अब करना है, या तो अब मरना है


भारत हमको जान से प्यारा है सबसे न्यारा गुलिस्ताँ हमारा है भारत हमको जान से प्यारा है सबसे न्यारा गुलिस्ताँ हमारा है


–> देशभक्ति वर मराठी कविता

हमसे जुड़े रहने के लिए हमारे फेसबुक पेज को जरूर लाइक करें

3 Comments

Leave a Reply