मनाली मत जइयो – अटल बिहारी वाजपेयी

661
ATAL BIHARI VAJPAYEE POEM MP3 DOWNLOAD

मनाली मत जइयो – ATAL BIHARI VAJPAYEE POEM MP3 DOWNLOAD


मनाली मत जइयो

मनाली मत जइयो, गोरी
राजा के राज में.

जइयो तो जइयो,
उड़िके मत जइयो,
अधर में लटकीहौ,
वायुदूत के जहाज़ में.

जइयो तो जइयो,
सन्देसा न पइयो,
टेलिफोन बिगड़े हैं,
मिर्धा महाराज में.

जइयो तो जइयो,
मशाल ले के जइयो,
बिजुरी भइ बैरिन
अंधेरिया रात में.

जइयो तो जइयो,
त्रिशूल बांध जइयो,
मिलेंगे ख़ालिस्तानी,
राजीव के राज में.

मनाली तो जइहो.
सुरग सुख पइहों.
दुख नीको लागे, मोहे
राजा के राज में.


अटल जी की अमर कविताएँ (ATAL BIHARI VAJPAYEE POEM MP3 DOWNLOAD)

–> अटल बिहारी वाजपेयी: काल के कपाल पे लिखता मिटाता हूं.. गीत नया गाता हूं’

–> पंद्रह अगस्त का दिन कहता – आज़ादी अभी अधूरी है।

–> मस्तक नहीं झुकने दूंगा

–> दूध में दरार पड़ गई.

मित्रों आपको यह जानकारी कैसी लगी हमें कमेंट करके अवश्य बताएं. और हमसे जुड़े रहने के लिए हमारे फेसबुक पेज को जरूर लाइक करें जय हिन्द

1 Comment

Leave a Reply