मिशन शक्ति से जुड़ी कुछ रोचक तथ्य…

245
Mission Shakti info hindi

भारत ने मिशन शक्ति के तहत एंटी सैटेलाइट मिसाइल (ए-सैट) का सफलतापूर्वक टेस्ट करने के साथ ही पूरी दुनिया को यह भी जता दिया कि उसके पास अब अन्तरिक्ष में भी अपनी रक्षा करने की ताकत है| आइये मिशन शक्ति से जुड़ी कुछ ख़ास बातों को जानते है:

मिशन शक्ति से जुड़ी कुछ रोचक तथ्य…

• जहाँ रूस 23वीं, अमेरिका 20वीं और चीन चौथी बार में ऐसा करने में सफल हुआ था, वहीं भारत ने पहली बार में पायी सफलता|

• अभी तक यह क्षमता सिर्फ रूस,चीन और अमेरिका के पास थी|

• भारत अब 300 से 2000किमी उचाई पर किसी सैटेलाइट को गिरा सकता है|

• ऐसा पहली बार हो रहा है जब एंटी सैटेलाइट टेस्ट से अन्तरिक्ष में कोई कचड़ा जमा नहीं हुआ|

• मिशन शक्ति को डीआरडीओ यानी रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन ने अंजाम दिया|

Mission Shakti info hindi

• मिशन शक्ति के तहत अंतरिक्ष में सुरक्षा के लिए जिस एंटी सैटेलाइट मिसाइल(ए-सैट) का सफलतापूर्वक उपयोग किया गया, वह अग्नि मिसाइल और एडवांस्ड एयर डिफेन्स सिस्टम का मिश्रण है|

• ए-सैट मिसाइल में बारूद नहीं होता है, इसके वारहेड पर मेटल स्ट्रिप होती है| जो सैटेलाइट के ऊपर गिराई जाती है, नतीजतन सैटेलाइट टूट जाता है|

• डीआरडीओ का यह मिशन पूरी तरह से स्वदेशी तकनिकी मिशन था| इसके तहत लांच हुआ एंटी सैटेलाइट मिसाइल भी भारत में ही बनाया गया था|

• मिशन शक्ति के तहत लांच हुए एंटी सैटेलाइट मिसाइल से न केवल अन्तरिक्ष में सुरक्षा सुनिश्चित होगी बल्कि कोई भी संदिग्ध सैटेलाइट इसके रहते भारतीय अंतरिक्ष सीमा में प्रवेश नहीं कर सकेगा|

• ए-सैट का परिक्षण चुनाव से ठीक पहले होना महज एक इत्तेफाक है| चूँकि इस मिशन के लिए सिमुलेशन टेस्ट काफी समय से चल रहा था|

• फ़िलहाल भारत के 55 उपग्रह पृथ्वी के कक्ष में चक्कर लगा रहे हैं|

• हिन्द प्रशांत क्षेत्र में भारत, चीन के बाद ऐसा दूसरा देश है| जिसके पास अन्तरिक्ष में सबसे ज्यादा एक्टिव सैटेलाइट है|

• ख़ास बात यह है की भारत ने जिस माइक्रोसैट आर सैटेलाइट को नष्ट किया उसके मलबे के धरती पर गिरने के बाद भी पर्यावरण को कोई नुकसान नहीं पहुंचेगा


–>देश-भक्ति शायरी हिंदी में

मित्रों आपको यह जानकारी कैसी लगी हमें कमेंट करके अवश्य बताएं. और हमसे जुड़े रहने के लिए हमारे फेसबुक पेज को जरूर लाइक करें

2 Comments

Leave a Reply